BJP Congress Politics

यूपी में पहले से पसरे ‘कमल’ को क्या ‘हाथ’ से हटा पाएंगी प्रियंका

राजनीति में अपनी पारी शुरू करने के बाद पहली बार प्रियंका गांधी लखनऊ में 12 किमी लंबा और 9 घंटे तक चलने वाला मेगा रोड़ शो करने वाली हैं. ऐसे में इस रैली में प्रियंका का साथ देंगे पच्श्रिमि यूपी के महासचिव ज्योतरादित्य सिंधिया और कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष, प्रियंका के भाई राहुल गांधी.

लेकिन बुरे दौर से गुज़र रही कांग्रेस, यूपी में इस रैली के बाद क्या बदलाव ला पाएगी. वैसे अगर हम कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर की माने तो ये दिन कांग्रेस के लिए स्वर्णिम दिन साबित होने वाला है.

पर आंकड़े देखें तो यूपी में कांग्रेस के हालात बहुत ही खस्ता हैं, क्योंकि उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के पास केवल 2 सांसद, 6 विधायक और एक एमएलसी है. इसके अलावा सूबे में पार्टी का वोट प्रतिशत सिंगल डिजिट में है.

सूबे में पार्टी संगठन में अध्यक्ष के नाम के सिवा किसी के बारे में लोगों को पता ही नहीं है. इससे पार्टी की खस्ता हालत का अंदाजा लगाया जा सकता है.

वहीं बात अगर भाजपा की करें तो, बीजेपी सूबे की सत्ता पर 311 विधायकों के संग प्रचंड बहुमत के साथ काबिज है और मौजूदा समय में 68 सांसद हैं. ऐसे चुनौती भरे दौर में कांग्रेस की कमान प्रियंका गांधी को सौंपी गई है.