Khabron se Hatkar

एक शादी ऐसी भी…

अक्षय तृतीया के दिन इस बारी शादियों के बहुत मुहरत थे तभी तो ग्वालियर और आसपास के जिलों में हजारों शादियां देखने को मिलीं लेकिन इस बार एक अलग ही शादी का किस्सा सामने आया है.

ग्वालियर के एक स्थान पर तो मुहूर्त का समय निकले जा रहा था जिसे देखकर दुल्हन अपने भाई के साथ बाइक पर ही मंदक पहुँच गयी.  अब इतनी शादियां थीं, जिस वजह से दूल्हे ट्रैक्टर और कार से शादी के मंडप में पहुँचते दिखे।

दरअसल, अक्षय तृतीय पर कई सामाजिक संगठन सामूहिक विवाह समारोहों का आयोजन करते हैं। बुधवार को भी मेला ग्राउंड में दूल्हे शादी के मंडप में तैयार बैठे थे उन्हें आयोजकों एक पंक्ति में खड़ा किया और शांति से सभी के विवाह को संपन्न कराया। इस मेले में 143 जोड़ों ने शादी की.