Latest mukhya khabar

फ्रांस में हुआ इंडो -फ्रेंच का युद्धाभ्यास , एयर चीफ ने राफेल लड़ाकू विमान को बताया बेहतरीन

फ्रांस में इस वक़्त भारतीय वायुसेना और फ्रांस एयरफोर्स के फाइटर विमानों के बीच एक बड़ा युद्धाभ्यास चल रहा है और इसकी सब बड़ी खूबी है फ़्रांसिसी लड़ाकू विमान राफेल। भारत के लड़ाकू विमानों के साथ इसका भी सफल परिक्षण किया जा रहा है। ऐसी उम्मीद की जा रही है बहुत जल्द राफेल भारतीय वायुसेना का हिस्सा बन जाएगा। फ्रांस के Mont De Marsan एयरबेस में चल रहे इस इंडो फ्रेंच युद्धाभ्यास में मिराज 2000, सुखोई 30 एमकेआई और अल्फा जेट विमान शामिल हैं।

भारतीय वायुसेना की ओर से 120 लड़ाकू विमान इस अभ्यास का हिस्सा बनी हैं जो फ्रांस पहुंची हैं। वाइस चीफ ऑफ़ एयर आरकेएस भदौरिया ने राफेल में उड़ान भर इसका सफल परीक्षण किया और कहा की ये दुनिया का सबसे बेहतरीन विमान है और इसके भारतीय वायुसेना का हिस्सा बनने से हमारी ताकत कई गुना बढ़ जाएगी। सुखोई और राफेल की जोड़ी के आगे दुश्मन किसी भी तरह के नापाक हरकत से डरेंगे।

भारत ने फ्रांस के साथ 58,000 करोड़ रूपए की लागत से 36 राफेल खरीदने पर डील हुई थी। भारत को फ्रांस से पहला राफेल विमान इसी साल के सितम्बर में मिलने की उम्मीद है। भारत और फ्रांस के बीच ये युधाभ्यास साल 2003 से ही चल रहा है। वही एयर चीफ भदौरिया ३६ राफेल विमानों की इस खरीद प्रक्रिया से साल 2016 से ही जुड़े हैं .