Accident mukhya khabar national

Mumbai- गोरेगांव में खुले नाले में गिरने से लापता हुआ 2 साल का मासूम ,सर्च अभियान जारी

मुंबई शहर जहां कुछ दिनों से बरसात के कारण डूबा हुआ था वही अब बीएमसी की लापरवाही की सज़ा एक 2 वर्षीय मासूम को झेलनी पड़ी। दरअसल बीते रात मुंबई गोरेगांव के अम्बेडकर नगर इलाके में 2 साल का मासूम दिव्यांश एक खुले हुए नाले में जा गिरा. ये घटना बीते रात की जब दिव्यांश अंधेरा होने के कारण उस नाले में गिर गया. बच्चे को सुरक्षित निकालने के लिए बचाव अभियान चलाया जा रहा है। दमकल। पुलिस और बीएमसी के लोग मौके पर मौजूद है लेकिन अब तक बच्चे का कुछ पता नहीं लग पाया। नाले की दीवार को तोड़ा गया है और दस किलोमीटर इस नाले में सर्च अभियान जारी है।


दो साल का मासूम सड़क पर चलते हुए गलती से गटर में गिर गया. इस हादसे का एक वीडियो भी सामने आया है जिसमें दिव्यांश सड़क के किनारे बने एक इलेक्ट्रिक बॉक्स के पीछे खुले नाले में अँधेरा होने के चलते अचानक गिर जाता है।


फिलहाल ये बताया गया की वो नाला ज्यादा गहरा नहीं है लेकिन आगे जाकर ये एक सीवर में मिल जाता है। साथ ही बारिश के कारण नाले में पानी का बहाव भी काफी तेज़ है इसलिए बच्चे को लेकर सभी चिंतित है। परिवार वाले बहुत दुखी है और जब तक बच्चा नहीं मिल जाता नाले के पास से हटने को राज़ी नहीं है।
हर साल बारिश के मौसम में बीएमसी की लापरवाही किसी न किसी की जान का दुश्मन बन जाता है। लेकिन फिर भी राज्य सरकार और बीएमसी कोई कड़े कदम उठाने को तैयार नहीं होती। साल 2017 में भी मुंबई की बारिश में मशहूर डॉ दीपक अमरापुरकर की खुले नाले में गिरने से मौत हो गयी थी।