Crime Latest mukhya khabar national

बच्चों से रेप मामले में UP पहले तो MP दूसरे नंबर पर, सुप्रीम कोर्ट हुआ सख्त,पढ़ें

देश में लगातार आ रहीं बच्चों से दरिंदगी की ख़बरों को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने अब सख्ती दिखानी शुरु कर दी है। जिसके चलते कोर्ट ने खुद ही PIL फाइल कर इन मामलों में विभिन्न राज्यों की रजिस्ट्री से रिपोर्ट मांगी है।

एक वेब पोर्टल की ख़बर के अनुसार, बच्चों से बलात्कार की घटनाओं से आहत होकर सुप्रीम रजिस्ट्री से पूरे देश में पहली जनवरी से अब तक ऐसे मामलों में दर्ज एफआईआर और कि गई कानूनी कार्रवाई के आंकड़े तैयार करने को कहा। रजिस्ट्री ने देश के सभी हाइकोर्ट से आंकड़े मंगाए।

वहीं अभी तक जो आंकड़े सामने आये हैं उनमें उत्तर प्रदेश पहले तो मध्य प्रदेश दूसरे नंबर पर है। जानकारी के अनुसार इन मामलों में उत्तरप्रदेश 3457 मुकदमों के साथ सबसे ऊपर है। वहीं मध्यप्रदेश 2389 मामलों के साथ दूसरे नम्बर पर है। इसके साथ ही 9 मामलों के साथ ही नगालैंड सबसे नीचे है।

ख़बर के अनुसार बच्चो से रेप के संवेदनशील मुकदमों में भी पुलिस की लापरवाही इस कदर है कि 50 फीसद ज़्यादा यानी 1779 मुकदमों की जांच ही पूरी नहीं हो पाई है तो दरिंदगी के अभियुक्तों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल करना तो बहुत दूर की बात है। इस काली सूची में मध्यप्रदेश 2389 मामलों के साथ दूसरे नम्बर पर है लेकिन पुलिस 1841 मामलों में जांच पूरी कर चार्जशीट भी दाखिल कर चुकी है। प्रदेश की निचली अदालतों ने 247 मामलों में तो ट्रायल भी पूरा कर लिया है।