Crime Latest mukhya khabar national

योगेश राज की FIR से बड़ा खुलासा, फर्जी निकले कई नाम

योगेश राज

बीते 3 दिसंबर को बुलंदशहर के एक गांव में तथाकतिथ मांस के टुकड़ों को लेकर फैले उगद्रव में लगातार नए खुलासे हो रहे हैं। एक ओर जहां पुलिस ने इस मामले में मुख्य आरोपी बनाये योगेश राज पुलिस गिरफ्त से फरार है वहीं एनडीवी वेब पोर्टल के अनुसार योगेश ने अपनी FIR में जिन लोगों के नाम लिखे हैं उनमें से अधिकतर नाम बोगस हैं।

दरअसल, एनडीटीवी की एक खबर के अनुसार FIR में दर्ज 7 में से 6 नाम बोगस हैं। गौरतलब है कि , इस मामले में दो FIR दर्ज की गईं हैं एक पुलिस की ओर से दर्ज कराई गई है जिसमें मुख्य आरोपी बजरंग दल के नेता योगश राज को बनाया गया है जो फिलहाल पुलिस गिरफ्त से फरार है।

वहीं दूसरी FIR योगेश द्वारा गोकशी के मामले को लेकर दर्ज कराई गई है। योगेश ने जिन नामों का जिक्र किया गया है उनमें एक नाम शराफत का है बताया जा रहा है कि शराफत पिछले 10 साल से गांव में रहते ही नहीं। वो फरीदाबाद में रहते हैं और कई सालों से गांव भी नहीं आए। बाकी तीन नाम सुदैफ, इलियास और परवेज इस गांव के हैं ही नहीं। न तो इनका यहां घर और न ही जमीन। गांव वालों ने इनका नाम पहले नहीं सुना। आखिरी नाम बचा सर्फुद्दीन का वह पुलिस थाने गए हैं वो गांव के ही हैं।

वहीं जिन दो नाबालिग बच्चों का नाम एफआईआर में लिखा गया है, उनकी उम्र 11-12 साल बताई जा रही है। इनमें से एक के पिता से बात की गई। उन्होंने कहा कि दोनों छोटे बच्चे हैं, वे गोकशी कैसे कर सकते हैं। जिस दिन यह घटना हुई, उस दिन दोनों बच्चे बुलंदशहर में थे।

कहीं न कहीं इस FIR से साफ़ होता है कि योगेश राज एक बड़ी साजिश को अंजाम देने की फिराक़ में था। फिलहाल, असलियत तो उस वक्त ही सामने आयेगी जब योगेश को पुलिस गिरफ्तार कर पूछताछ करेगी।